7 अप्रैल को लॉन्च होगा Tata Neu ऐप | 7 April Ko Launch Hoga TATA Neu App

Tata Group जल्दही अपने आज तक के सबसे बड़े ऐप Tata Neu को मार्केट में लॉन्च करने जा रहा है।

7 अप्रैल को लॉन्च होगा TataNeu ऐप

7 अप्रैल को लॉन्च होगा Tata Neu ऐप | 7 April Ko Launch Hoga TATA Neu App

आप सब लोग ने अभी आईपीएल मैचेज भी देखे होंगे, जिसमे आपने इस आप का स्पॉन्सर भी देखा होगा, मैदान पर और उसमे से कुछ लोग उत्सुक भी होंगे कि यह TataNeu ऐप है क्या ?

Tata Neu ऐप क्यू लॉन्च किया जा रहा है?

और यह हमे किस तरह से फायदा पहुंचा सकता है ?  तो इस आर्टिकल में हम आपको यही सब बताएंगे तो सारी जानकारी जानने के लिए आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

Tata Group इस ऐप के जरिए अपने डिजिटल फ्रीक्वेंसी को बढ़ाना चाहता है ।और मार्केट में मौजूद बड़ी बड़ी कंपनियां जैसे फ्लिपकार्ट, अमेजन और रिलायंस ग्रुप  को टक्कर देना चाहता है।

Tata Neu ऐप से आपको क्या क्या मिलेगा ?

Tata केNeo ऐप से आप एयरलाइन्स, होटल, दवाइयां, औरअपने जरुरत की कोई भी समान आसानी से मंगवा सकते है एक ही ऐप के जरिए।

ऐसा माना जा रहा है कि इस ऐप का इंटरफेस भी काफी आसान है जिसे हर कोई आसानी से इस्तेमाल कर पाएगा। Tata Neu ऐप से आप कार की बुकिंग भी कर पायेंगे ऐसी खबरे भी बाजार में काफी चर्चित है। Tata Neu ऐप को एक सुपर ऐप भी माना जा रहा है।

यह सुपर ऐप क्याहै?

सुपर ऐप एक ऐसे ऑनलाइन प्लेटफार्म को कहते है, जिस पर किसी भी व्यक्ति की सारी जरुरत की समान एक जगह पर ही मिल जाए। सुपर ऐप वर्ड का प्रयोग सबसे पहले 2010 में ब्लैक बेरी के फाउंडर ने किया था।

एक एग्जांपल जो हमे याद आता है सुपर ऐप के नाम पर तो वो wechat जो शुरुवाती में था तो एक मैसेजिंग ऐप पर आज उस ऐप से हम हर तरह की पेमेंट्स, फूड ऑर्डर, कैब बुकिंग सब कर सकते है।

आप सुपर ऐप को एक मॉल की तरह मान सकते हो,जो आपको एक रिटेल स्पेस प्रोवाइड करता है जहां आप सभी ब्रांड्स , बिजनेस की दुकानें एक साथ मिल जाती है।

सुपर ऐप कौन बनाता है ?

सुपर ऐप को हर कोई कंपनी नही बना सकती कुछ चुनिंदा कंपनी जो पहले से ही कस्टमर को काफी तरह की सर्विसेज प्रोवाइड करती है, सिर्फ उस तरह की कंपनी ही सुपर ऐप बना सकती है।

सुपर ऐप का कॉन्सेप्ट सबसे चीन जैसे देशों में ही आया था।

भारतीय कंपनी सुपर ऐप क्यूबनना चाहती है?

भारतीय मार्केट को अब सुपर ऐप के लिए तैयार माना जा रहा है क्योंकि आज भारत की 90% परसेंट पॉपुलेशन अपने फोन के जरिए ही आपका काम करने की कोशिश करती हैं। ऐप के जरिए ही अपनी जरूरत को पूरा करने की कोशिश करती है। जो इस बात का प्रमाण है कि इंडियन मार्केट अब इस चेंज के लिए पूरी तरह तैयार हैं जहां आपको एक ही प्लेस पर सारे सर्विस मिल सकें।

Read Also : रोड ट्रिप पर बचाने है पैसे तो प्रयोग करें गूगल मैप्स का “टोल प्राइज फीचर” |

Leave a Comment