80CCC क्या है ?

 आयकर अधिनियम की धारा 80CCC.
(Section 80CCC of Income Tax Act)
🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸
पेंशन एक सुरक्षा है जो युवा और वृद्ध दोनों को समान रूप से शांति प्रदान करती है। 
धारा 80CCC एक टैक्स सेविंग सेक्शन है, जिसके तहत कोई व्यक्ति पेंशन योजनाओं या बीमा कंपनियों की किसी भी वार्षिकी योजना के लिए किए गए भुगतान के लिए INR 1,50,000 तक की कर कटौती का दावा कर सकता है।
धारा 80CCC क्या है?
👉पेंशन योजनाओं में व्यक्तिगत योगदान धारा 80CCC के तहत आयकर छूट के लिए पात्र हैं।
👉धारा 80CCC के तहत वार्षिकी पेंशन योजनाओं के भुगतान में कटौती की जा सकती है।
👉सेवानिवृत्ति योजनाओं को खरीदने या जारी रखने के लिए किए गए खर्चों पर कर लाभ धारा 80CCC के तहत परिभाषित किया गया है, जिससे योग्य निवेशकों को अतिरिक्त लाभ प्राप्त करने की अनुमति मिलती है।
👉वार्षिकी जमा करने पर प्राप्त वार्षिक पेंशन हर साल कर योग्य है, जिसमें कोई ब्याज या अर्जित बोनस शामिल है।
👉केवल व्यक्तिगत करदाता (INDIVIDUAL) ही धारा 80CCC के तहत कटौती का दावा कर सकते हैं। 
👉हिन्दू अविभाजित परिवार (HUF) के लिए धारा 80 CCC में आयकर की कोई छूट देय नही है।
👉80CCC के तहत देय आयकर छूट धारा 80C की 1,50,000/- की सीमा के अधीन ही देय है, यह धारा 80c का ही पार्ट है
*यहाँ कुछ चीजें याद रखने योग्य हैं:*
👇👇👇
👉इस योजना से प्राप्त ब्याज या बोनस आयकर कटौती के लिए पात्र नहीं होगा।
👉योजना के आत्मसमर्पण के बाद प्राप्त राशि पर कर लगता है।
👉आपको मिलने वाली पेंशन की राशि कर योग्य है।
👉धारा 80CCC अधिकतम 1,50,000 रुपये की कटौती की अनुमति देता है।
👉 बीमाकर्ता सार्वजनिक या निजी क्षेत्र दोनो का हो सकता है।
वार्षिकी (Annuity) क्या है ?
वार्षिकी एक अनुबंध है जो पॉलिसी अवधि की शुरुआत में एकमुश्त निवेश पर निर्दिष्ट अवधि के लिए ग्राहकों को नियमित भुगतान प्रदान करता है। … वरिष्ठ नागरिकों जैसे व्यक्तियों के लिए वार्षिकी बहुत उपयोगी है जिन्हें सेवानिवृत्ति के बाद अपनी वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए नियमित और स्थिर आय की आवश्यकता होती है।
वार्षिकी कितने प्रकार के होते हैं?
वार्षिकी दो प्रकार की होती है, 
1-तात्कालिक 
2-आस्थगित वार्षिकी। 
तात्कालिक वार्षिकी में आपको जीवन बीमाकर्ता को एकमुश्त राशि का भुगतान करने के तुरंत बाद पेंशन मिलती है। 
आस्थगित वार्षिकी में आपको निर्धारित समय अवधि के बाद पेंशन मिलती है। 
वार्षिकी योजनाओं का लाभ आपके पूरे जीवन के लिए नियमित और गारंटीकृत भुगतान है।
सरल पेंशन प्लान क्या है?
सरल पेंशन योजना एक तात्कालिक वार्षिकी प्लान है, यानी पॉलिसी लेते ही आपको पेंशन मिलना शुरू हो जाता है. इस पॉलिसी को लेने के बाद जितना पेंशन से शुरुआत होती है, उतनी ही पेंशन पूरी जिंदगी मिलती है।
एलआईसी में पेंशन प्लान क्या है?
LIC सरल पेंशन योजना (Saral Pension). ये एक सिंगल प्रीमियम पेंशन प्लान (Single premium Pension plan) है, जिसमें पॉलिसी लेते समय ही एक बार प्रीमियम देना होता है. इसके बाद पूरी जिंदगी आपको पेंशन मिलती रहेगी।
LIC सरल पेंशन प्लान को 40 से 80 साल तक का कोई भी व्यक्ति ले सकता है. ज्वाइंट लाइफ एन्युटी ऑप्शन में दोनों की उम्र 40 से 80 के बीच में होनी चाहिए. इसमें आपको मासिक, तिमाही, छमाही और सालाना पेंशन लेने का ऑप्शन है. इस पॉलिसी में आप 6 महीने के बाद लोन भी ले सकते हैं।
एसबीआई पेंशन प्लान क्या है?
नेशनल पेंशन प्लान एसबीआई एक स्वैच्छिक प्लान है और 18 से 60 साल के बीच के किसी भी भारतीय नागरिक को पेंशन खाते खोलने की अनुमति देता है। नेशनल पेंशन प्लान एसबीआई के प्रत्येक खाताधारक को एक स्थायी रिटायरमेंट अकाउंट नंबर (PRAN) प्राप्त होगा जो कि प्रीमियम भुगतान और पेंशन भुगतान अवधि तक फिक्स रहेगा।
अटल पेंशन योजना क्या है?
क्या है अटल पेंशन योजना? अटल पेंशन स्कीम (Atal Pension Scheme) एक ऐसी सरकारी योजना है जिसमें आपके द्वारा किए गए निवेश आपकी उम्र पर निर्भर करती है. इस योजना के तहत आपको कम से कम 1,000 रुपये, 2000 रुपये, 3000 रुपये, 4000 रुपये और अधिकतम 5,000 रुपये मासिक पेंशन मिल सकती है।
https://docs.google.com/forms/d/e/1FAIpQLSfCRoTDnz4MnSe58LlYKkpmXKR_fSEmxug0KkHDxZ4LEgGxZA/viewform?vc=0&c=0&w=1&flr=0

Leave a Comment