How to Become a Software Engineer In Hindi | Software Engineering Kaise Kare

How to Become a Software Engineer In Hindi

Software Engineer कैसे बनें: आजकल जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी आगे बढ़ रही है, कंप्यूटर और इंटरनेट के प्रति लोगों की दिलचस्पी भी बढ़ती जा रही है। दुनिया में लाखों छात्र हैं जो कंप्यूटर में रुचि रखते हैं और वे भविष्य में होनहार इंजीनियर बनना चाहते हैं।

How to Become a Software Engineer In Hindi | Software Engineering Kaise Kare

मोबाइल इंजीनियर हो, कंप्यूटर इंजीनियर हो या Software Engineer, कई छात्रों की कंप्यूटर में काफी रुचि होती है। वे सॉफ्टवेयर डेवलपर या सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं।

हालांकि, बहुत से लोगों को यह नहीं पता होता है कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए क्या करना चाहिए, इसलिए आज के इस पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा कि Software Engineer कैसे बनें और इस ROLE के लिए आवश्यक योग्यताएं क्या हैं।

What is software engineering?

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग एक प्रकार का कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स है जो दो शब्दों सॉफ्टवेयर और इंजीनियरिंग से बना है। दूसरे शब्दों में, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग आईटी की एक शाखा है जहां आप सॉफ्टवेयर डिजाइनिंग, परिनियोजन (Deployment), रखरखाव(Maintenance), परीक्षण, प्रोग्रामिंग आदि के बारे में जानेंगे।

एक Software Engineer HTML, JAVA, PHP, C/C++, Python सहित कई प्रोग्रामिंग भाषाओं का उपयोग करता है। एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए, आपको इन सभी प्रोग्रामिंग भाषाओं को जानना होगा।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर या सॉफ्टवेयर डेवलपर यूजर की जरूरत के अनुसार विभिन्न प्रोग्रामिंग भाषाओं में कोडिंग करके सॉफ्टवेयर विकसित करते हैं। यह एप्लिकेशन का परीक्षण करता है और इसे बनाए रखता है। प्रोग्रामिंग भाषा सीखना बहुत मुश्किल नहीं है और Software Engineer बनने का यह पहला कदम है।

How to Be a Software Engineer: Step by Step Guide

नीचे एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए चरण-दर-चरण मार्गदर्शिका दी गई है जो एक Software Engineer बनने के आपके सपने को पूरा करेगी।

  • Start at the school level

Software Engineer बनना स्कूल स्तर से शुरू होता है और 10वीं के बाद आपको साइंस ब्रांच का चुनाव करना होता है। सुनिश्चित करें कि आपको विज्ञान में पढ़ाए जाने वाले सभी बुनियादी विषयों की अच्छी समझ है, क्योंकि स्कूल के बाद इस क्षेत्र में उच्च शिक्षा की डिग्री प्राप्त करना आवश्यक है।

  • Getting a Bachelor’s Degree

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने की दिशा में सबसे महत्वपूर्ण कदम इस क्षेत्र या संबंधित क्षेत्र में बैचलर की डिग्री प्राप्त करना है। चूंकि सभी विश्वविद्यालय सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में बैचलर की डिग्री प्रदान नहीं करते हैं, इसलिए कंप्यूटर विज्ञान में बैचलर के लिए जाना एक अच्छा विचार है, क्योंकि यह कंप्यूटर विज्ञान के तहत एक विशेष क्षेत्र है। कंप्यूटर विज्ञान में बैचलर 4 साल की अवधि का होता है और इसमें सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आवश्यक सभी आवश्यक विषयों को शामिल किया जाएगा।

आप संबंधित क्षेत्र में डिप्लोमा करके भी एक Software Engineerबन सकते हैं, लेकिन बैचलर की डिग्री प्राप्त करना एक अच्छा विकल्प है क्योंकि कई शीर्ष कंपनियां अक्सर बैचलर की डिग्री वाले Students को Hire करना पसंद करती हैं।

  • Internship

एक इंटर्नशिप आपको अपने कौशल को व्यवहार में लाने में मदद कर सकती है। अपनी स्नातक की डिग्री पूरी करते समय अधिकतम इंटर्नशिप करें। यह इंटर्नशिप आपको उन विभिन्न कार्यों के बारे में जानकारी देगी जो Software Engineer कर रहे हैं और आपको अपने भविष्य में सफल होने में मदद करेंगे।

(Internshala) करियर शुरू करें इंटर्नशिप प्राप्त करें

  • Update Skills

अपने skills को विकसित करने का एक तरीका है नए सॉफ़्टवेयर बनाने का प्रयास करना – यह आपको अपने knowledge को practical use में लाने में मदद मिलेगी। इसके अलावा, आप नौकरी के अधिक अवसर खोलने के लिए सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में मास्टर्स भी चुन सकते हैं।

  • Apply for the job

एक Software Engineer बनने की दिशा में अंतिम और सबसे महत्वपूर्ण कदम नौकरियों के लिए Apply करना है। एक सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग नौकरी के लिए Best Candidate माने जाने के लिए, आपको अपने सभी Skills और Experience को Highlight करने वाले एक Best (Resume) रिज्यूमे की आवश्यकता होगी। सबसे पहले, आपको अपना करियर एक छोटी कंपनी में शुरू करना पड़ सकता है, लेकिन जैसे-जैसे आप अपने Knowledgeऔर Skills को बढ़ाते रहेंगे, आप जल्द ही अपनी सपनों की कंपनी में एक अच्छी स्थिति पा सकते हैं।

Skills Required (आवश्यक योग्यता)

तेजी से बदलते Industry में आगे बढ़ने और दूसरों पर बढ़त हासिल करने के लिए, Software Engineer को अपने तकनीकी और Soft Skill को तेज करना चाहिए। निम्नलिखित कुछ सॉफ्ट स्किल्स हैं जो आपके करियर को बढ़ा सकती हैं।

  • लॉजिकल थिंकिंग
  • मल्टीटास्किंग
  • विवरण पर ध्यान
  • अच्छी कम्युनिकेशन स्किल
  • एक्टिव Listener
  • Management

Software engineering course after 12th Class

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको साइंस स्ट्रीम से बारहवीं कक्षा पास करनी होगी जिसमें आपके पास फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स और कंप्यूटर साइंस होनी चाहिए। आइए Software Engineer में 12वीं के बाद आगे के कोर्स के बारे में जानते हैं।

  • CS Diploma
  • BCA
  • B.Tech
  • M.Tech
  • ME
  • B.Sc
  • MSc
  • PhD

Role of Software engineer

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जैसे C, C++, JAVA, Python, CSS, Php आदि का ज्ञान होना चाहिए। एक Software Engineer इन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की मदद से सॉफ्टवेयर बनाता है।

एक Software Engineer की भूमिका होती है-

  • एक Software Engineer का मुख्य कार्य प्रोग्रामिंग करना होता है।
  • सॉफ्टवेयर विकसित करें।
  • मोबाइल ऐप्स बनाना।
  • लैपटॉप और कंप्यूटर हार्डवेयर के लिए सॉफ्टवेयर बनाना।
  • एप्लिकेशन और प्रोग्राम विकसित करने में आने वाली समस्याओं का समाधान।
  • टेस्टिंग सॉफ्टवेयर।
  • साफ्टवेयर का रख-रखाव।
  • यूजर या क्लाइंट की जरूरत के हिसाब से सॉफ्टवेयर बनाना।

Software engineer salary

एक Software Engineer का वेतन technology और कंप्यूटर भाषाओं के आपके knowledge पर निर्भर करता है। एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर की शुरुआती सैलरी कम से कम 20-40 हजार रुपये प्रति माह होती है और दिल्ली और बैंगलोर में एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर को 45 से 50 हजार रुपये महीना मिलता है. उसके बाद एक expert Software Engineer को सालाना 70-80 लाख रुपये मिलते हैं।

अगर आप गूगल जैसी मल्टीनेशनल कंपनी में काम कर रहे हैं तो आपकी सैलरी भी 1 करोड़ रुपये सालाना तक हो सकती है।

Conclusion

दोस्तों आज हर कोई इंजीनियर, डॉक्टर आदि की पढाई करता है ताकि आगे जाकर अच्छी नौकरी पा सके और अपना भविष्य सुरक्षित कर सके। आज हमने आपको एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के बारे में सारी जानकारी प्रदान की है लेकिन याद रखें कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना इतना आसान नहीं है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करनी होती है और साथ ही साथ आपकी गणित और अंग्रेजी में भी अच्छी पकड़ होनी चाहिए। सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में बैचलर कोर्स करने के बाद आप इसमें मास्टर डिग्री भी कर सकते हैं।

Read Also: 10 Basic Computer Skills In Hindi: A Beginners’ Guide

Leave a Comment