Raksha Bandhan 2022 History, Wishes, Quotes, Images And WhatsApp Status

Raksha Bandhan 2022 History

Raksha Bandhan एक हिंदू त्योहार है जो भाइयों और बहनों के बीच श्रावण के महीने की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस दिन को भाई बहन दिवस भी कहा जाता है।

Raksha Bandhan 2022 History, Wishes, Quotes, Images And WhatsApp Status
Image: Pexel

क्या Raksha Bandhan (राखी) पर पब्लिक हॉलिडे होता है?

Raksha Bandhan (राखी) एक वैकल्पिक छुट्टी है। भारत में रोजगार और छुट्टी कानून कर्मचारियों को वैकल्पिक छुट्टियों की सूची से सीमित संख्या में छुट्टि की अनुमति दी जाती हैं।

कर्मचारी छुट्टी लेना चुन सकते हैं, हालांकि ज्यदा तर ऑफिस और व्यवसाय खुले रहते हैं। इस साल रक्षाबन्धन (राखी) का त्यौहार 11 अगस्त को मनाया जायगा।

Raksha Bandhan 2022 Story

Raksha Bandhan का मतलब प्यार और सुरक्षा का दिन होता है। यह दिन मुख्य रूप से भाई-बहनों के बीच एक-दूसरे के प्रति प्यार और स्नेह दिखाने के लिए मनाया जाता है।

बहनें अपने भाई को राखी बांधती हैं और भगवान से उसके रक्षा की प्रार्थना करती हैं, और भाई उसे बुराई से बचाने का वादा करता है। लोग अपने दोस्तों और करीबी लोगों को प्यार और देखभाल दिखाने के लिए भी राखी बांधते हैं।

इंद्र और इंद्राणी: इंद्र और इंद्राणी की कथा में, इंद्र की पत्नी इंद्राणी ने उन्हें राक्षसों से बचाने के लिए उनकी कलाई के चारों ओर एक पवित्र धागा बांधा था।

यह कहानी हमें बताती है कि राखी का इस्तेमाल हमारे प्रियजनों को बुराई से बचाने के लिए किया जाता हैं। भारत के स्वतंत्रता संग्राम के दौरान बंगाल के विभाजन के दौरान हिंदुओं और मुसलमानों को एकजुट करने के लिए इसका इस्तेमाल एक उपकरण के रूप में भी किया गया था।

रवींद्रनाथ टैगोर ने बंगाल के विभाजन के ब्रिटिश फैसले को रोकने के लिए दो धर्मों के बीच मेल-मिलाप और भाईचारा लाने के लिए राखी का इस्तेमाल किया था।

यम यमुना: इस कहानी में, यम ने अपने भाई यमुना की कलाई पर एक पवित्र धागा बांधा और उसे अपनी सौतेली माँ छाया द्वारा मृतकों के श्राप से बचाया। उसने अपनी माँ से कहा कि वह उसका रहस्य जानता है जिसने उसे क्रोधित किया और उसने उसे श्राप दिया, जो कि सूत द्वारा खा लिया गया था।

संतोषी मां और भगवान गणेश: इस पौराणिक कथा को रक्षाबंधन मनाने का कारण माना जाता है. भगवान गणेश के दो पुत्र थे जिन्होंने उनसे राखी बांधने वाली बहन पाने के लिए कहा। इसके बाद गणेश ने संतोषी मां की रचना की जिन्होंने उनके बच्चों को राखी बांधी।

Raksha Bandhan Muhurat

इस साल, रक्षाबंधन 11 अगस्त 2022 को मनाया जाने वाला है। इसके शुभ मुहूर्त और समय की जानकारी निचे दी गई है।

धागा समारोह का समय सुबह 06:07 से शाम 05:59 बजे तक
अपराह्न मुहूर्त 01:48 अपराह्न से 04:22 अपराह्न
पूर्णिमा तिथि 11 अगस्त को सुबह 10:38 बजे से शुरू हो रही है
पूर्णिमा तिथि 12 अगस्त को सुबह 07:05 बजे समाप्त होगी

Raksha Bandhan Mantra

येन भादो बली राजा दानवेन्द्रो महाबलः |
तेन त्वानामिभाद्नामी त्वामाभिबध्नामी रक्षे माचल माचल ||

अर्थ – “मैं आपको यह रक्षाबंधन बांध रही हूं जो राक्षस राजा बलि से बंधा हुआ है। हे रक्षा कृपया हिलो मत और डगमगाओ मत।”

Raksha Bandhan Messages

सक्सेस तुम्हारे कदम चूमे, खुशियाँ तुम्हे घेर ले पर भगवान् से इतनी प्रे करने के लिए, तुम कुछ तो कमिशन दो! मेरे प्यारे (पर कंजूस) भाई, हैप्पी रक्षा बंधन!!

मैं अपने जीवन में आप जैसी बहन को पाकर बहुत धन्य महसूस करता हूं जो हमेशा मेरे साथ रहती है आप ऊपर से भेजे गए परी की तरह हैं धन्यवाद, बहन! आपको रक्षा बंधन की हार्दिक शुभकामनाएं !!

हम मीलों दूर हैं लेकिन फिर भी जुड़े हुए हैं क्योंकि हम हमेशा एक दूसरे के दिलों में जुड़े हुए हैं। राखी मुबारक!

मेरी प्यारी बहना तुम मेरी जिंदगी का वो हिस्सा हो जिसके बिना मैं अपने जीवन की कल्पना नहीं कर सकता। मेरी प्यारी बहन आपको राखी मुबारक।

Read Also: Friendship Day 2022 Wishes

Rakhi WhatsApp Status for sisters:

इस रक्षा बंधन पर मैं आपको जीवन भर प्यार और सपोर्ट देने का वादा करता हूं। Happy Raksha Bandhan

Raksha Bandhan 2022 History, Wishes, Quotes, Images And WhatsApp Status

मैं अपनी प्यारी बहन को ढेर सारा प्यार और शुभकामनाएं भेजता हूं। आप दुनिया की सबसे अच्छी और सबसे प्यारी बहन हो। Happy Raksha Bandhan !

मैं इस रक्षाबंधन पर आपके साथ हूं, जैसा था और हमेशा रहुगा। Happy Raksha Bandhan !

छोटी-छोटी बातों पर लड़ाई हो या मम्मी-पापा को परेशान करना, तुम हो तो सब ठीक है। हैप्पी रक्षाबंधन प्यारी बहन!

मेरी बहन मेरी बेस्ट फ्रेंड, मैं हमेशा तुम्हारे साथ हूं। हैप्पी रक्षाबंधन।

Rakhi WhatsApp status for brothers:

जब भी मुझे अच्छा नहीं लगता, मेरी प्यारी और देखभाल करने वाली बहन के मुस्कुराता हुआ चेहरा मेरी दुनिया को पूर्ण बनाते हैं। हैप्पी रक्षाबंधन।

Raksha Bandhan 2022 History, Wishes, Quotes, Images And WhatsApp Status

हालाँकि कभी-कभी हम अपने भाई से लड़ते हैं, लेकिन वह मेरा दोस्त है और मेरी नादानियों में मेरा भागीदार है। हैप्पी रक्षाबंधन बिग ब्रदर!

आप जैसे प्यार करने वाले और देखभाल करने वाले भाई के साथ, में मेरे हर जनम में तुम जैसा भाई चाहुगी। हैप्पी रक्षाबंधन।

छोटे भाई, तुममेरे जीवन का वो सबसे बड़ा गिफ्ट हो जिसे में हमेशा अपने दिल से लगा के रखना चाहुगी। हैप्पी रक्षाबंधन।

Raksha Bandhan (Rakhi )Quotes

“जैसे-जैसे हम बड़े होते गए, मेरे भाइयों ने ऐसा व्यवहार किया जैसे उन्हें कोई परवाह नहीं है, लेकिन मुझे हमेशा से पता था कि वे मुझे ढूंढ रहे थे और वे थे!” – कैथरीन पल्सीफेर

Raksha Bandhan 2022 History, Wishes, Quotes, Images And WhatsApp Status

“हर समय जिम्मेदार, परिपक्व और समझदार होना कठिन है। एक बहन का होना कितना अच्छा है जिसका दिल आपके जितना छोटा हो। ” – पाम ब्राउन

“आशीर्वाद, मेरे प्यार, और याद रखना कि तुम हमेशा दिल में हो – ओह इतने करीब कि तुम्हारी बहन को बचने का कोई मौका नहीं है” – कैथरीन मैन्सफील्ड

Raksha Bandhan Essay

रक्षाबंधन भाई बहन का त्योहार है। यह त्योहार हर साल सावन माह की पूर्णिमा को धूम धूम से मनाया जाता है।

रक्षाबंधन का अर्थ है रक्षा का बंधन। इस दिन बहन अपने भाई के माथे पर तिलक लगाकर उसकी कलाई पर राखी बांधती है।

भाई बहन को रक्षा का वचन देकर उपहार देता है। रखी शकती, विश्वास और विजय की प्रतीक मानी जाती है।

घर घर में ढेर सारे पकवान और स्वादिष्ट मिठाइयां बनवाई जाती है।

इस दिन बहन अपने भाई के अलावा देश की रक्षा में तैनात फौजी भाईयो और पुलिस के जवानों को भी रखी बांधती है।

रक्षाबंधन का यह त्योहार भारत देश की संस्कृति, सभ्यता, और परंपरा का अमूल्य प्रतीक है।

हमारे देश मे कई त्योहार है, उसमे से ही एक त्योहार है, रक्षाबंधन।

इस त्योहार के अवसर पर सभी बहने अपने भाईयो को राखी बांधती है, और उनके लंबी आयु की कामना करती है।

तथा सभी भाई अपनी बहनों को यह वचन देते है की, वे उनकी हर परिस्थिति में रक्षा करेंगे।

यह त्योहार पूरे भारत देश में मनाया जाता है।

रक्षाबंधन के त्योहार का सभी बहने बेसब्री से इंतजार करती है।

सभी भाई अपनी बहनों को इस दिन मिठाइयां तथा कई सारे उपहार भी देते है।

यह त्योहार हर साल सावन महीने की पूर्णिमा को मनाया जाता है।

रक्षाबंधन वाले दिन घर में खुशी का वातावरण होता है।

रक्षा बंधन केवल एक त्योहार नही बल्कि हमारी परंपराओं का प्रतीक है।

रक्षाबंधन एक ऐसी परंपरा है, जो हमे आपस में जोड़ती है, तथा भाई और बहन के पवित्र रिश्ते को जोड़े रखती है।

इसलिए आज भी यह त्योहार पूरे देश में धूमधाम से मनाया जाता है।

Read Also:

Leave a Comment